जिसके लिए पल भर Jiske Liye Pal Bhar Lyrics in Hindi from Loafer (1996)

Jiske Liye Pal Bhar Lyrics in Hindi. जिसके लिए पल भर song from Loafer 1996. It stars Anil Kapoor, Juhi Chawla. Singer of Jiske Liye Pal Bhar is Alka Yagnik, Udit Narayan. Lyrics are written by Sameer Music is given by Anand Shrivastav, Milind Shrivastav

Song Name : Jiske Liye Pal Bhar
Album / Movie : Loafer 1996
Star Cast : Anil Kapoor, Juhi Chawla
Singer : Alka Yagnik, Udit Narayan
Music Director : Anand Shrivastav, Milind Shrivastav
Lyrics by : Sameer
Music Label : Tips Music

जिसके लिए पल भर न सो रही थी आँखे
जिसके लिए हम सबकी रो रही थी आँखे
जिसके लिए पल भर न सो रही थी आँखे
जिसके लिए हम सबकी रो रही थी आँखे
जिसके लिए जिसके लिए जिसके लिए

वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला

वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला

बार बार कहता है मुझसे मेरा दिल ये पागल
आज ख़ुशी में ऐसे नाचू टूट जाये पायल
दुखिया दुखिया चाँदनी है उजली उजली रात है
मेरा दिलबर मेरा साजन अब मेरे साथ है
अब जिया धड़कना नहीं दूर मुझसे जाना नहीं
रेंज वफ़ा से मैंने अंग रंग डाला

जिसके लिए हम सबकी रो रही थी आँखे
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला

ाओ लगा दो माथे पे टिका
नजर किसी की न लग जाये
विजयी हो चाचू हमारा हर ाकभी पास न आये
आज मै जो कुछ भी हु
सब आपका अहसान हिअ
जो जीए औरों की खातिर बस वही इंसान है
जीत ये मेरी नहीं है जीत है ये आपकी
ड़ोर न तोडूँगा मै आपके विश्वास की

जिसके लिए हम सबकी रो रही थी आँखे
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
वो मसीहा आ गया बांके आज उजाला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला
बुरी नजर वालों का मुह हुआ काला.

Jiske liye pal bhar na so rahi thi aankhe
Jiske liye hum sabki ro rahi thi aankhe
Jiske liye pal bhar na so rahi thi aankhe
Jiske liye hum sabki ro rahi thi aankhe
Jiske liye jiske liye jiske liye

Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala

Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala

Bar bar kahta hai mujhse mera dil ye pagal
Aaj khushi me aise nachu tut jaye payal
Dukhiya dukhiya chandani hai ujali ujali rat hai
Mera dilbar mera sajan ab mere sath hai
Ab jiya dhadkana nahi dur mujhse jana nahi
Range wafa se maine ang rang dala

Jiske liye hum sabki ro rahi thi aankhe
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala

Aao laga do mathe pe tika
Najar kisi ki na lag jaye
Vijyi ho chachu hamara har akbhi pas na aaye
Aaj mai jo kuch bhi hu
Sab aapka ahsan hia
Jo jiye oro ki khatir bas wahi insan hai
Jeet ye meri nahi hai jeet hai ye aapki
Dor na todunga mai aapke viswas ki

Jiske liye hum sabki ro rahi thi aankhe
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Wo masiha aa gaya banke aaj ujala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala
Buri najar walo ka muh hua kala.