जिसका दर्शन करने को Jiska Darshan Karne Ko Lyrics in Hindi from Kaaran

Jiska Darshan Karne Ko Lyrics in Hindi. जिसका दर्शन करने को song from Kaaran. It stars Raj Kiran, Shoma Anand, Ramesh Deo, Aruna Irani. Singer of Jiska Darshan Karne Ko is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Indeevar (Shyamalal Babu Rai) Music is given by Usha Khanna

Song Name : Jiska Darshan Karne Ko
Album / Movie : Kaaran
Star Cast : Raj Kiran, Shoma Anand, Ramesh Deo, Aruna Irani
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Usha Khanna
Lyrics by : Indeevar (Shyamalal Babu Rai)

जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता है वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता है वो तुम हो
जिसकी चमक चुराने को ये
चाँद चमकता है
वो तुम हो वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता है वो तुम हो

नज़र मिली जब तुमसे कोई और नज़र
न आया कोई और नज़र न आया
तुम्हे बनाकर रब ने अपना सुन्दर
रूप डीहकया सुन्दर रूप दिहकाया
जिसके सामने आने को दर्पण
तड़पता है वो तुम हो
जिसके सामने आने को दर्पण
तडपता हैवो तुम हो
वो तुम हो वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता है वो तुम हो
जिसकी चमक चुराने को ये
चाँद चमकता है
वो तुम हो वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता हैवो तुम हो

ताल से ताल निकलती है
संगीत बसा बातो में
संगीत बसा बातो में
किस्मत लिख सकती हो तुम
वो काला चुपी हाथों में
वो काला चुपी हाथों में
जिससे हाथ मिलाने को हर कोई
तरसता है वो तुम हो
जिससे हाथ मिलाने को हर कोई
तरसता है वो तुम हो
वो तुम हो वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज
निकलता है वो तुम हो
जिसकी चमक चुराने को ये चाँद
चमकता है वो तुम हो वो तुम हो
जिसका दर्शन करने को सूरज निकलता है
वो तुम हो.

Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta hai wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta hai wo tum ho
Jiski chamak churane ko ye
Chand chamakta hai
Wo tum ho wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta hai wo tum ho

Nazar mili jab tumse koi or nazar
Na aaya koi or nazar na aaya
Tumhe banakar rab ne apna sundar
Rup dihkaya sundar rup dihkaya
Jiske samne aane ko darpan
Tadapta hai wo tum ho
Jiske samne aane ko darpan
Tadapta haiwo tum ho
Wo tum ho wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta hai wo tum ho
Jiski chamak churane ko ye
Chand chamakta hai
Wo tum ho wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta haiwo tum ho

Taal se taal nikalte hai
Sangeet basa baato mein
Sangeet basa baato mein
Kismat likh sakti ho tum
Wo kala chupi hatho mein
Wo kala chupi hatho mein
Jisse hath milane ko har koi
Tarasta hai wo tum ho
Jisse hath milane ko har koi
Tarasta hai wo tum ho
Wo tum ho wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj
Nikalta hai wo tum ho
Jiski chamak churane ko ye chand
Chamakta hai wo tum ho wo tum ho
Jiska darshan karne ko suraj nikalta hai
Wo tum ho.