जिसे प्यार ज़माना कहता हैं Jise Pyar Zamana Kehta Hain Lyrics in Hindi from Tadap Aisi Bhi Hoti Hai

Jise Pyar Zamana Kehta Hain Lyrics in Hindi. जिसे प्यार ज़माना कहता हैं song from Tadap Aisi Bhi Hoti Hai. It stars Meenakshi Seshadri, Chunky Pandey. Singer of Jise Pyar Zamana Kehta Hain is Amit Kumar, Lata Mangeshkar. Lyrics are written by M. G. Hashmat Music is given by Rahul Dev Burman

Song Name : Jise Pyar Zamana Kehta Hain
Album / Movie : Tadap Aisi Bhi Hoti Hai
Star Cast : Meenakshi Seshadri, Chunky Pandey
Singer : Amit Kumar, Lata Mangeshkar
Music Director : Rahul Dev Burman
Lyrics by : M. G. Hashmat
Music Label : T-Series

जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

मैंने तुमको तडपाया है
अब तदापु तेरी तड़पन में
मैंने तुमको तडपाया है
अब तदापु तेरी तड़पन में
एहसास से दर्द उभरता हूँ
हर सांस हैं दिल की धड़कन में
मैं तेरी वफ़ा न समझ सकी
मेरी भूल हैं यह नादानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

जो कसम दिलाई थी तुमने
हम उसको तोड़ न पाएंगे
जो कसम दिलाई थी तुमने
हम उसको तोड़ न पाएंगे
हम तेरे है तेरे दुःख में
यह दुनिया छोड़ के जायेंगे
हमने तुमसे न मिलने की
मरने तक कसम निभानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

तुम मिलोगे मुझे फिर कही
इस आस में अब तक जीती थी
तुम मिलोगे मुझे फिर कहीं
इस आस में अब तक जीती थी
तेरे ग़म में सुलगती रहती थी
और प्यास में आँसू पीती थी
तुम्हे खो कर जीना मुश्किल हैं
मर जाने में आसानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

यह प्यार मोहब्बत और वफा
बस थोड़ी दे के रिश्ते है
यह प्यार मोहब्बत और वफा
बस थोड़ी दे के रिश्ते है
अक्सर तो बिछड ने के खातिर
दुनिया में मुसाफिर मिलते है
यह कड़वी हक़ीक़त है हमने
नादाँ दिल को समझा नई हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

जब याद अँधेरी रातों में
मेरे दिल के तार हिलती है
जब याद अँधेरी रातों में
मेरे दिल के तार हिलती है
ख़ामोशी में आवाज़ तेरी
मेरे कानों तक आती है
लागत है हमरी चाहत की
दुनिया से अलग कहानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

हाथो ो लकीरे देखती हूँ
तक़दीर का दोष बताती हूँ
हाथो ो लकीरे देखती हूँ
तक़दीर का दोष बताती हूँ
कबँहि में तेरी बर्बादी का
खुद पे इलज़ाम लगाती हैं
जो ज़ुल्म किया मैंने तुमने
अब उसकी सजा तो पानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं

मैं तेरे दर्द के रिश्ते को
सीने से लगा के जी लुंगी
मैं तेरे दर्द के रिश्ते को
सीने से लगा के जी लुंगी
चुभती सासो की ढगो से
दिल के टुकड़ों को सी लुंगी
एक पल का गुज़ारना मुश्किल हैं
फिर भी यह उम्र बितानी हैं
जो मेरी आँख से बहता हैं
वो तेरे दर्द का पानी हैं
जिसे प्यार ज़माना कहता हैं
नाम उसका तो क़ुर्बानी हैं.

Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Maine tumko tadapaya hai
Ab tadapu teri tadapan mein
Maine tumko tadapaya hai
Ab tadapu teri tadapan mein
Ehsaas se dard ubharta hoon
Har saans hain dil ki dhadkan mein
Main teri wafa na samjh saki
Meri bhool hain yeh nadani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Jo kasam dilayi thi tumne
Ham usko tod na paayenge
Jo kasam dilayi thi tumne
Ham usko tod na paayenge
Ham tere hai tere dukh mein
Yeh duniya chhod ke jaayenge
Hamne tumse na milne ki
Marne tak kasam nibhani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Tum miloge mujhe phir kahi
Is aas mein ab tak jiti thi
Tum miloge mujhe phir kahin
Is aas mein ab tak jiti thi
Tere gham mein sulagti rehti thi
Aur pyaas mein aansu piti thi
Tumhe kho kar jeena mushkil hain
Mar jaane mein aasani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Yeh pyar mohabbat aur wafa
Bas thodi de ke rishte hai
Yeh pyar mohabbat aur wafa
Bas thodi de ke rishte hai
Aksar to bichhad ne ke khatir
Duniya mein musafir milte hai
Yeh kadavi haqiqat hai hamne
Nadan dil ko samjha ni hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Jab yaaad andheri raato mein
Mere dil ke taar hilati hai
Jab yaaad andheri raato mein
Mere dil ke taar hilati hai
Khamoshi mein aawaz teri
Mere kano tak aati hai
Lagat hai hamri chahat ki
Duniya se alag kahani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Haatho o lakire dekhti hoon
Taqdeer ka dosh batati hoon
Haatho o lakire dekhti hoon
Taqdeer ka dosh batati hoon
Kabnhi mein teri barbaadi ka
Khud pe ilzaam lagati hain
Jo zulm kiya maine tumne
Ab uski saza to pani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain

Main tere dard ke rishte ko
Sine se laga ke jee lungi
Main tere dard ke rishte ko
Sine se laga ke jee lungi
Chubhti saaso ki dhgo se
Dil ke tukdo ko see lungi
Ek pal ka guzarna mushkil hain
Phir bhi yeh umar bitani hain
Jo meri aankh se behta hain
Wo tere dard ka paani hain
Jise pyar zamana kehta hain
Naam uska to qurbaani hain.