जिस रात के ख्वाब आये Jis Raat Ke Khwaab Aaye Lyrics in Hindi from Habba Khatoon (1980)

Jis Raat Ke Khwaab Aaye Lyrics in Hindi. जिस रात के ख्वाब आये song from Habba Khatoon 1980. It stars null. Singer of Jis Raat Ke Khwaab Aaye is Mohammed Rafi. Lyrics are written by Ali Sardar Jafri Music is given by Naushad Ali

Song Name : Jis Raat Ke Khwaab Aaye
Album / Movie : Habba Khatoon 1980
Star Cast : null
Singer : Mohammed Rafi
Music Director : Naushad Ali
Lyrics by : Ali Sardar Jafri
Music Label : Saregama

जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी
शर्मा के झुकि नज़रें
होंठों पे वो बात आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी

पैग़ाम बहारों का
आखिर मेरे नाम आया
फूलों ने दुआएं दी
तारों का सलाम आया
तारों का सलाम आया
आप आये तो महफ़िल में
आप आये तो महफ़िल में
नग़मों की बरात आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी

यह महकी हुई जुल्फें
यह बेहकी हुयी साँसें
नींदों को चुरा लेंगी
यह नींद भरी आँखें
यह नींद भरी आँखें
तक़दीर मेरी जागी
तक़दीर मेरी जागी
जन्नत मेरे हाथ आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी

चेहरे पे तबस्सुम ने
एक नूर सा छलकाया
क्या काम चिरागों का
जब चांद निकल आया
जब चांद निकल आया
लो आज दुल्हन बन के
लो आज दुल्हन बन के
पहलु में हयात आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी
शर्मा के झुकीं नज़रें
होंठों पे वह बात आयी
जिस रात के ख्वाब आये
वो ख़्वाबों की रात आयी.

Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi
Sharmaa ke jhuki nazren
Honthon pe wo baat aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi

Paighaam bahaaron ka
Aakhir mere naam aaya
Phoolon ne duaayen dee
Taaron ka salaam aaya
Taaron ka salaam aaya
Aap aaye to mehfil mein
Aap aaye to mehfil mein
Naghmon ki baraat aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi

Yeh mehki huyi zulfen
Yeh behki huyi saansen
Neendon ko chura lengi
Yeh neend bhari aankhen
Yeh neend bhari aankhen
Taqdeer meri jaagi
Taqdeer meri jaagi
Jannat mere haath aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi

Chehre pe tabassum ne
Ek noor saa chhalkaaya
Kya kaam chiraagon ka
Jab chaand nikal aaya
Jab chaand nikal aaya
Lo aaj dulhan ban ke
Lo aaj dulhan ban ke
Pehlu mein hayaat aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi
Sharmaa ke jhukin nazren
Honthon pe woh baat aayi
Jiss raat ke khwaab aaye
Wo khwaabon ki raat aayi.