जिस देश में गंगा (टाइटल) Jis Desh Mein Ganga Title Lyrics in Hindi from Jis Desh Mein Ganga Rehta Hain (2000)

Jis Desh Mein Ganga Title Lyrics in Hindi. जिस देश में गंगा (टाइटल) song from Jis Desh Mein Ganga Rehta Hain 2000. It stars Govinda, Sonali Bendre, Rinke Khanna. Singer of Jis Desh Mein Ganga Title is Abhijeet Bhattacharya. Lyrics are written by Dev Kohli, Praveen Bhardwaj Music is given by Anand Raj Anand

Song Name : Jis Desh Mein Ganga Title
Album / Movie : Jis Desh Mein Ganga Rehta Hain 2000
Star Cast : Govinda, Sonali Bendre, Rinke Khanna
Singer : Abhijeet Bhattacharya
Music Director : Anand Raj Anand
Lyrics by : Dev Kohli, Praveen Bhardwaj
Music Label : Universal Music

भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
मद्धम मद्धम सी पवन चले
कोयलिया गीत सुनाती है
बचा वह आज भी चाँद को
चंदा मां कहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
मद्धम मद्धम सी पवन चले
कोयलिया गीत सुनाती है
बचा वह आज भी चाँद को
चंदा मां कहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है

गाँव का पनघट पनघट का पानी
भरी गागरिया कोई दीवानी
ठंडी ठंडी पुरवाई
में मीठी मीठी खुशबु
मत पूछो उस खुशबू में
होता है कैसा जादू
जादू ऐसा होता है के
हर कोई झूमता रहता है
जिस देश में

गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है

भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
मद्धम मद्धम सी पवन चले
कोयलिया गीत सुनाती है

दिल में बसाकर गाँव की ममता
शहर में आया मैं जोगी रामता
दिल में बसाकर गाँव की ममता
शहर में आया मैं जोगी रामता
सुख दुःख सरे मन कर
और उनको अपना कर
तरह तरह के नातो से
घर बन जाता है सुन्दर
पल पल सच्चे रिश्तों का
वहाँ प्यार बरसता रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
भाभी कंगन खनकाती है
और माँ लोरिया जाती है
मद्धम मद्धम सी पवन चले
कोयलिया गीत सुनाती है
बचा वह आज भी चाँद को
चंदा मां कहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है

जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है
जिस देश में गंगा रहता है.

Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Madham madham si pawan chale
Koyaliya geet sunati hai
Bacha vaha aaj bhi chand ko
Chanda mama kehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Madham madham si pawan chale
Koyaliya geet sunati hai
Bacha vaha aaj bhi chand ko
Chanda mama kehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai

Gaanv ka panghat panghat ka pani
Bhare gagariya koyi divani
Thandi thandi purwayi
Mein mithi mithi khushbu
Mat puchho uss khushbu mein
Hota hai kaisa jadu
Jadu aisa hota hai ke
Har koyi jhumta rehta hai
Jis desh mein

Ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai

Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Madham madham si pawan chale
Koyaliya geet sunati hai

Dil me basakar gaanv ki mamta
Shaher me aaya mai jogi ramta
Dil me basakar gaanv ki mamta
Shaher mein aaya mai jogi ramta
Sukh dukh sare man kar
Aur unako apna kar
Tarah tarah ke naato se
Ghar ban jata hai sundar
Pal pal sachche rishto ka
Vahan pyar barasta rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Bhabhi kangan khankaati hai
Aur maa loriya gati hai
Madham madham si pawan chale
Koyaliya geet sunati hai
Bacha vaha aaj bhi chand ko
Chanda mama kehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai

Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai
Jis desh mein ganga rehta hai.