जवानी का यह आलम है Jawani Ka Yeh Alam Hai Lyrics in Hindi from Kahin Aar Kahin Paar

Jawani Ka Yeh Alam Hai Lyrics in Hindi. जवानी का यह आलम है song from Kahin Aar Kahin Paar. It stars Joy Mukherjee, Vimmi, Helen, Nadira, Shetty, Sheikh Mukhtar, Shyam Kumar, Anwar Hussan. Singer of Jawani Ka Yeh Alam Hai is Kishore Kumar. Lyrics are written by Shamsul Huda Bihari (S. H. Bihari) Music is given by Ganesh

Song Name : Jawani Ka Yeh Alam Hai
Album / Movie : Kahin Aar Kahin Paar
Star Cast : Joy Mukherjee, Vimmi, Helen, Nadira, Shetty, Sheikh Mukhtar, Shyam Kumar, Anwar Hussan
Singer : Kishore Kumar
Music Director : Ganesh
Lyrics by : Shamsul Huda Bihari (S. H. Bihari)
Music Label : Saregama

जवानी का
जवानी का यह आलम है
खुदा हाफिज तुम्हारा
तड़प जाता है इस दर से
कभी दिल भी था हमारा
के दुसमन कोई भी
हमरा बने न
हमारे सिवा कोई
तुम्हारे बने न
के दुसमन कोई भी
हमरा बने न
हमारे सिवा कोई
तुम्हारे बने न
जवानी का यह आलम है
खुदा हाफिज तुम्हारा

सारे नज़ारे कहते
है तुमसे
देदो हमे भी
शोखी नज़र की
झुकने लगी है हा
कदमो में बाज़ी
ऐसी लचक है पतली कमर की
चिकनी चिकनी बहे
बर्फ़ीली यह राहे
हम को करती है दीवाना
जवानी का
जवानी का यह आलम है
खुदा हाफिज तुम्हारा

हे हे हे ल ला लला

दिल की निराली दुनिया में आओ
ऐसी सुहानी बस्ती मिलेगी
हाथों में कोई है
सागर न होगा
आँखों में लेकिन
मस्ती मिलेगी
मतवाली हो यह राते
रातों में यह बाते
कैसी होती है न पूछो
जवानी का
जवानी का यह आलम है
खुदा हाफिज तुम्हारा
तड़प जाता है इस दर से
कभी दिल भी था हमारा
के दुसमन कोई भी
हमरा बने न
हमारे सिवा कोई
तुम्हारे बने न
हमारे सिवा कोई
तुम्हारे बने न
हमारे सिवा कोई
तुम्हारे बने न.

Jawani ka
Jawani ka yeh alam hai
Khuda hafiz tumhara
Tadap jata hai is dar se
Kabhi dil bhi tha humara
Ke dusman koi bhi
Humara bane na
Humare siwa koi
Tumhare bane na
Ke dusman koi bhi
Humara bane na
Humare siwa koi
Tumhare bane na
Jawani ka yeh alam hai
Khuda hafiz tumhara

Sare nazare kehte
Hai tumse
Dedo hume bhi
Shokhi nazar ki
Jhukne lagi hai ha
Kadamo mein bazi
Aisi lachak hai patli kamar ki
Chikani chikani bahe
Barfili yeh raahe
Hum ko karti hai deewana
Jawani ka
Jawani ka yeh alam hai
Khuda hafiz tumhara

Hey hey hey la la lala

Dil ki nirali duniya mein aao
Aisi suhani basti milegi
Hatho mein koi ha
Saagar na hoga
Aankho mein lekin
Masti milegi
Matwali ho yeh raate
Raato mein yeh baate
Kaisi hoti hai na puchho
Jawani ka
Jawani ka yeh alam hai
Khuda hafiz tumhara
Tadap jata hai is dar se
Kabhi dil bhi tha humara
Ke dusman koi bhi
Humara bane na
Humare siwa koi
Tumhare bane na
Humare siwa koi
Tumhare bane na
Humare siwa koi
Tumhare bane na.